नवरात्रि विशेष: जन्मतिथि और राशि अनुसार, माँ का कौन सा स्वरुप है आपके लिए ख़ास..?

नवरात्रि में नवदुर्गा की आराधना का बहुत ही विशेष महत्वता है। इन नौ दिनों में पूरे भारत में पूरे विधि-विधान के साथ माता के नौ स्वरूपों की पूजा-आराधना की जाती है। माँ के हर रूप का एक अलग ही महत्त्व है इसीलिए सबकी अलग-अलग से विशेष रूप से पूजा की जाती है। जिस तरह से हर देवी का विशेष पूजन होता हैं, उसी तरह हर देवी का एक विशेष भोग भी होता है।

यह भी पढ़े: जानिए नवरात्रि के नौ भोग कैसे पूर्ण करेंगे हर इच्छा..?

शास्त्रों में राशि और जन्मतिथि के अनुसार माँ के स्वरूप की आराधना के बारे में बात की गई है। अगर भक्त अपनी राशि और जन्मतिथि के अनुसार माँ के स्वरुप की पूजा करें, तो उत्तम फल प्राप्त होता है।

आइए जानतें है इस नवरात्रि अपनी जन्मतिथि और राशि अनुसार कैसे पूजन करें: 

  • जिनका जन्म 1, 10, 19, 28 तारिख को हुआ है, उनके लिए माँ शैल्पुत्री की उपासना विशेष रूप से फलदाई है।

  • 2, 11, 20, 29 तारीख, यानि जिनका योग 2 है, उनके लिए ब्रह्मचारनी माँ की उपासना विशेष रूप से फललदाई है।

  • 3, 12, 21, 30 तारीख में जन्में लोगों के लिए माँ चंद्रघंटा की उपासना से फलदाई है।

  • 4, 13, 22, 31 तारीख में जन्में लोगों को कुष्मांडा माँ की उपासना करनी चाहिए।

  • 5, 14, 23 तारिख में जन्में जातकों के लिए माँ स्कंदमाता की पूजा लाभदायक है।

  • 6, 15, 24, तारिख में जन्में जातकों के लिए माँ कात्यायनी की पूजा लाभदायक है।

  • 7, 16, 25 तारिख में जन्में जातकों के लिए माँ कालरात्रि की पूजा लाभदायक है।

  • 8, 17, 26 तारिख में जन्में जातकों के लिए महागौरी की पूजा लाभदायक है।

  • 9, 18, 27 तारिख में जन्में जातकों के लिए सिद्धिदात्री की पूजा लाभदायक है।

राशि अनुसार माँ के किस स्वरुप की करें आराधना..?

  • मेष

मेष राशि वालों का स्वामी मंगल होता है और इन्हें स्कंदमाता का पूजन करना चाहिए। स्कंदमाता शक्ति को संबोधित करती है।

  • वृष

वृष राशि वाले जातकों को माहागौरी का पूजन करना चाहिए। माहागौरी अपने भक्तों को मान-सम्मान, विद्या सभी चीज़े प्रधान करती है।

  • मिथुन

मिथुन राशि के जातकों को ब्रह्मचारिणी का पूजन करना चाहिए। यह विद्या प्रधान करती है, शिक्षा के क्षेत्र में सभी बाधाओं को दूर करती है और बुद्धि-बल को बढ़ाती है।

  • कर्क

कर्क राशि वालें जातकों को माँ शैल्पुत्री की आराधना करनी चाहिए।

  • सिंह

सिंह राशि के जातकों को माँ कुष्मांडा का पूजन करना चाहिए।

  • कन्या

कन्या राशि के जातकों को माँ ब्रह्मचारिणी का पूजन करना चाहिए।

  • तुला

तुला राशि वाले जातकों को माहागौरी का पूजन करना चाहिए।

  • वृश्चिक

वृश्चिक राशि वाले जातकों को स्कंदमाता का पूजन करना चाहिए।

  • धनु

धनु राशि के लिए माँ चंद्रघंटा का पूजन करना चाहिए। इनको हल्दी की गाँठ चढ़ानी चाहिए और हल्दी की माला से जप करना चाहिए। इनको पीला भोग और पुष्प चढ़ाना अच्छा रहता है।

  • मकर

मकर राशि के जातकों को माँ कालरात्रि का पूजन करना चाहिए। इस दिन विशेष रूप से काली कवच पढ़कर इनकी उपासना करनी चाहिए।

  • कुम्भ

कुम्भ राशि के जातकों को भी माँ कालरात्रि का पूजन करना चाहिए।

  • मीन

मीन राशि वाले जातकों को माँ चंद्रघंटा का पूजन करना चाहिए।

इसके अलावा गुड़हल का फूल माँ दुर्गा को चढ़ाना चाहिए। अगर कलश स्थापना सुबह 7 बजें से लेकर 8 बजें के बीच में अगर घटस्थापना करते है तो सभी के लिए यह अत्यंत शुभ है।

यह भी जानें:

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *