होली और लक्ष्मी जयंती है साथ, जानिए किन सरल उपाय से होगा लक्ष्मी का आगमन!

होली का त्यौहार अपने साथ जीवन के हर रंग को लेकर आता हैं लोग इस पर्व को बहुत ही ख़ुशी और उत्साह के साथ खेलते हैं और अपने जीवन की सभी परेशानियों को भुलाकर मिलकर होली का आनंद उठाते हैं लेकिन क्या आप जानते हैं की होली के दिन लक्ष्मी पूजा करने का भी विशेष लाभ होगा? इस साल होली और लक्ष्मी जयंती एक ही दिन हैं, जिससे इस दिन की महत्वता और भी बढ़ गई हैं शास्त्रों में यह भी बताया गया हैं की होली के दिन माँ लक्ष्मी का आगमन होता हैं और दरिद्रता खत्म होती हैं। आइये जानते हैं होली के दिन किन सरल उपायों से होगा माँ लक्ष्मी का आगमन:

  • कहते हैं होली की भस्म को दहन के बाद घी या दूध से बुझाना भी बहुत शुभ माना जाता हैं ऐसा करने से लक्ष्मी का आगमन होता हैं

  • होली की भस्म को व्यापार स्थल में रखने से व्यापार में बढ़ोतरी होती हैं

  • इस दिन महालक्ष्मी अष्टकम का पाठ करने से और माँ लक्ष्मी की दृष्टि आपके घर पर अवश्य पढ़ती हैं

  • होली के दौरान माँ लक्ष्मी के मंत्रों का जप करने से महालक्ष्मी की कृपा प्राप्त होती हैं। होली की रात देवी महालक्ष्मी के साथ साथ इष्ट देवी-देवताओं की पूजा करनी चाहिए। मंत्र जप के लिए कमल के गट्टे की माला का उपयोग करना चाहिए। इस मंत्र का जप करें – “ऊँ श्रीं महालक्ष्म्यै नम:।”

  • इस दिन महालक्ष्मी को कमल के फूल, चंदन, केसर, पीला वस्त्र, इत्र व मिठाई अर्पित करें। इसके बाद कुश के आसन पर बैठकर कमल गट्टे की माला से मंत्र का जप करें।

  • होली के बाद हर शुक्रवार महालक्ष्मी का विशेष पूजन और इस मंत्र का जप करते रहना चाहिए। महालक्ष्मी के इन उपायों को होली की रात करने से आने वाला समय सुख एवं स्मृद्धि से युक्त होगा और जीवन की सभी परेशानियाँ दूर होंगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *