सुहागन का उपहार, करवाचौथ का त्यौहार ..!

भारतीय समाज में औरतों से जुड़े त्योहारों में सबसे ऊपर जिस त्यौहार का नाम आता है वो हैकरवाचौथ  करवाचौथ दो शब्दों के मेल से बना है, करवा+चौथ  यहां करवा मतलब मिट्टी का बर्तन और चौथ मतलब चतुर्थी  मुख्य रूप से उत्तर भारत में मनाया जाने वाला ये त्यौहार विवाहित औरतें अपने पति की दीर्घआयु , सफलता, स्वास्थ्य के मद्देनज़र मनाती हैं  साथ ही इस त्योहार को पतिपत्नी के आपसी प्यार और विश्वास के तौर पर भी देखा जाता है  ये त्यौहार तिथि के मुताबिक़ कार्तिक महीने के कृष्णपक्ष में पड़ने वाली चतुर्थी को मनाया जाता है , जो कि अमूमन शरद पूर्णिमा के चौथे या पांचवें दिन बाद पड़ता है

इस त्यौहार पर ज़्यादातर औरतें निराजल व्रत रखती हैं और शाम को चन्द्रमा के दर्शन के बाद ही जलअन्न ग्रहण करती हैं  इस त्यौहार में विशेष पूजन जिन देवी देवता का होता है, उनमें भगवान् शिवमाता पार्वती, गणेश व् कार्तिकेय प्रमुख है  इस त्यौहार की शुरुवात कैसे हुई, इस पर अनेक कहानियां प्रचलित हैं  मगर जो सबसे प्रचलित वृत्तांत है, उसके मुताबिक़…. एक बार देवदानव युद्ध हो रहा था और उसमें देवताओँ की हार होने लगी तो सारे देवता हार से बचने के लिए ब्रह्मा जी के पास पहुंचे तो ब्रह्मा जी ने कहा कि हार से बचने और दानवों पर विजय के लिए सभी देवताओं की पत्नियों को व्रत रखना पड़ेगा 

भारतीय समाज में औरतों से जुड़े त्योहारों में सबसे ऊपर जिस त्यौहार का नाम आता है वो हैकरवाचौथ  करवाचौथ दो शब्दों के मेल से बना है, करवा+चौथ  यहां करवा मतलब मिट्टी का बर्तन और चौथ मतलब चतुर्थी  मुख्य रूप से उत्तर भारत में मनाया जाने वाला ये त्यौहार विवाहित औरतें अपने पति की दीर्घआयु , सफलता, स्वास्थ्य के मद्देनज़र मनाती हैं  साथ ही इस त्योहार को पतिपत्नी के आपसी प्यार और विश्वास के तौर पर भी देखा जाता है 

सभी देवता और उनकी पत्नियों ने ब्रह्मदेव की इस बात को मान लिया युद्ध में जब देवताओं की विजय हुई, उस वक़्त रात हो गयी थी और चन्द्रमा अपने शबाब पर था ऐसे में रात को चन्द्रमा की रोशनी में देवताओं की पत्नियों ने अपना व्रत खोला इसके अलावा एक मान्यता ये भी है कि महाभारत में पांडवोंकौरवों के युद्ध के दरम्यान भगवान् श्रीकृष्ण की प्रेरणा से द्रौपदी ने भी करवाचौथ व्रत रखा था जिसके परिणामस्वरूप पांडवों को इस युद्ध में विजय हासिल हुई थी  

ये कुछ वो कथाएं हैं, जिन्हें करवाचौथ त्यौहार की उत्पत्ति का कारण माना जाता है  मग़र इन सबके बीच जो चीज़ प्राचीन समय से ही क़ायम है, वो है करवाचौथ की रौनक औरत शहरी परिवेश की हो या फ़िर ग्रामीण, हर किसी का उत्साह देखने लायक होता है  हो भी क्यों जब बात सुहाग की हो  

 

App: https://houseofgod.onelink.me/xj4X/HouseOfGodSocial

Web: https://goo.gl/b58FFt

Facebook: http://bit.ly/2wF5wRq

Instagram: http://bit.ly/2wN8X7W

Twitter: http://bit.ly/2w4S5IS

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *