Seemesh Dixit
7 days ago
कहते हैं कि दुनियां में हो रहे सभी खेल-तमाशों का एकमात्र मदारी किसी को दिखाई नहीं देता , खेल फिर भी अनवरत चलता रहता हैं परंतु सत्य तो यह हैं कि कोई ऐसा खेल नहीं जिसमे मदारी न दिखे , समय आने पर हर किरदार दिखता हैं । मदारी तो तटस्थ भाव से खेल के समय साथ मे उपस्थित रहता हैं , जिसे पहचानने के लिए मन की आँखे खोलनी पड़ती हैं । प्रेम से बोलिये .... जय जय श्रीराधे !!…