ध्यानलिंग : मानव मुक्ति का द्वार। Dhyanalinga : A doorway to liberation

Liked

sadhguru jaggi vasudev

See More

ध्यानलिंग कई आत्मज्ञानियों का सपना रहा है। यह एक अनूठा ऊर्जा केंद्र है जिस में सातों चक्रों की चरम तक प्राण प्रतिष्ठा की गई है। ध्यानलिंग के सम्मुख सिर्फ कुछ मिनटों के लिए मौन होकर बैठना ही ध्यान की गहरी अवस्था का अनुभव करने के लिए काफी है।

house of god
house of god
SAVE

Preferences

THEME

LANGUAGE