षटतिला एकादशी व्रत की कथा

Liked

Team-House Of God

See More

माघ मास के कृष्ण पक्ष की एकादशी को षटतिला एकादशी कहते हैं। इस दिन भगवान विष्णु की पूजा की जाती है। इस दिन काले तिलों के दान का विशेष महत्त्व है। शरीर पर तिल के तेल की मालिश, जल में तिल डालकर उससे स्नान, तथा तिल पकवान की इस दिन विशेष महत्ता है। इस दिन तिलों का हवन करके रात्रि जागरण किया जाता है। 'पंचामृत' में तिल मिलाकर भगवान को स्नान कराने से बड़ा लाभ मिलता है। षटतिला एकादशी पर तिल मिश्रित पदार्थ खाने और खिलाने से बहुत फायदा होता है।इस दिन 6 रूपों में तिल का प्रयोग किया जाता है, इसीलिए यह एकादशी 'षटतिला' कहलाती है।

house of god
house of god
SAVE

Preferences

THEME

LANGUAGE